शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

Shukra ka Gochar: शुक्र ग्रह 12 मार्च 2023 को सुबह 8 बजकर 13 मिनट पर मेष राशि में गोचर करेंगे। मेष राशि में शुक्र ग्रह ऊर्जावान स्थिति में होंगे। मेष राशि में शुक्र ग्रह रोमांटिक होने के साथ-साथ साहसी और जोखिम उठाने वाला भी हो सकता है। वे विलासिता और भौतिकवादी सुख चाहते हैं। ये बुद्धिमान और ईमानदार होते हैं लेकिन दूसरों से आगे रहना पसंद करते हैं क्योंकि इनका जीवन के प्रति प्रतिस्पर्धात्मक दृष्टिकोण होता है। अलग-अलग राशियों के प्रत्येक जातक के लिए इस गोचर के अलग-अलग परिणाम होंगे। तो आइए देखते हैं कि मेष राशि में शुक्र का यह गोचर इन सभी जातकों के जातकों को कैसे प्रभावित करता है

वृषभ राशि 
वृषभ राशि के जातकों की कुंडली में शुक्र ग्रह लग्न और छठे भाव का स्वामी है। लग्नेश शुक्र का बारहवें भाव में गोचर करना वृषभ राशि के जातकों के लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से अनुकूल स्थिति नहीं है। परिणामस्वरूप, मेष राशि में शुक्र के गोचर के दौरान उन्हें कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का अनुभव हो सकता है, और चिकित्सा खर्चों के कारण धन का बहुत अधिक प्रवाह भी होगा। अपने विवाह या संबंध के बाहर ऐसी अनैतिक गतिविधियों में शामिल न हों जो आपको बदनाम कर सकती हैं और यहां तक कि कुछ संघर्ष या कानूनी मुकदमेबाजी भी कर सकती हैं। 

शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें - काव्यांजलि - kavyanjali.in
शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें 1

तुला राशि 
तुला  राशि के जातकों की कुंडली में शुक्र ग्रह लग्न और अष्टम भाव के स्वामी हैं। यह इस समय जीवन साथी और व्यवसाय में साझेदारी के सप्तम भाव में गोचर कर रहा है। यअष्टम भाव का स्वामी गोपनीयता और गुप्त इच्छा का स्वामी होने के कारण, आपको विवाहेतर संबंधों में लिप्त होने की संभावना है, जो आपके रिश्तों के साथ-साथ आपकी छवि के लिए भी हानिकारक साबित हो सकता है। अपनी सीमा के भीतर रहें, सीमाओं को न लांघें और अपने प्रिय के साथ गुणवत्तापूर्ण समय बिताएं। 

शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें - काव्यांजलि - kavyanjali.in
शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें 2

वृश्चिक राशि 
वृश्चिकराशि के जातकों के बारहवें और सातवें भाव के स्वामी ग्रह शुक्र हैं। और इस गोचर के दौरान वो आपके छठे भाव में गोचर करेंगे। छठा भाव शत्रु, स्वास्थ्य, प्रतियोगिता, मामा का भाव होता है। तो शुक्र का मेष राशि में गोचर वृश्चिक राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम देगा। आपके सप्तमेश और लग्न के कारक होने के कारण शुक्र छठे भाव में गोचर कर रहा है जो दर्शाता है कि वृश्चिक राशि के जातकों के वैवाहिक जीवन के लिए यह गोचर सकारात्मक नहीं हो सकता है, आपको अपने जीवन साथी के साथ संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है। बारहवें भाव पर शुक्र की दृष्टि से आप काफी धन खर्च कर सकते हैं। 

शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें - काव्यांजलि - kavyanjali.in
शुक्र ग्रह मेष राशि में करेंगे प्रवेश, इन राशियों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें 3