सिर में भारीपन के कारण और इलाज

सिर में भारीपन के कई कारण हो सकते हैं. कई बार सिर के भारीपन बहुत ही तनावग्रस्त व चिड़चिड़ा बना देता है. कई बार तो जब सिर भारी रहता है तो व्यक्ति कुछ भी करने में असमर्थ हो जाते हैं. सिर में भारीपन से कई बार चक्कर भी आने लगते है व कई बार सिरदर्द भी हो जाते हैं. आगे हम सिर में भारीपन के कारण व इलाज की चर्चा करेंगे.

सिर में भारीपन के कारण

  1. सिर या गर्दन में चोट
    किसी भी तरह से यदि गर्दन या सिर में चोट लग जाती है या गर्दन या सिर में खिंचाव आ जाये या गर्दन की नस दाब जाये तो इस कारण से सिर में भारीपन हो सकता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्दन हमारे सिर को अंदरूनी सहारा देती है. अतः किसी भी कारण से यदि गर्दन में कोई समस्या होती है तो उसका असर सिर तक हो जाता है और इस कारण से सिर में भारीपन लगता है.
  2. थकान
    सिर में भारीपन का कारण थकान भी हो सकता है. जब थकान रहती है या शरीर को आराम नहीं मिलता है या नींद पूरा नहीं होता है तो यह भी सिर में भारीपन का कारण होता है.
  3. तनाव व चिंता
    सिर में भारीपन के एक मुख्य कारण तनाव है. आज के भागदौड़ के जिंदगी में लोग कई कारणों से तनाव व चिंता में रहते हैं, जो सिर में भारीपन का कारण बनता है. अत्यधिक तनाव से सिर में दर्द भी हो सकता है. अतः तनाव व चिंता से बचना चाहिए.
  4. कान की समस्या 
    हमारे सिर में कान व दिमाग के नसें जुड़ी होती हैं. इसलिए कई बार कान में चोट लग जाने के कारण या किसी भी कारण से कान के पास गाँठ होने से भी सिर में भारीपन की शिकायत होती है.
  5. माइग्रेन
    यदि पहले से माइग्रेन की समस्या हो तो इस कारण से सिर में दर्द, चक्कर आना या सिर में भारीपन की शिकायत हो सकती है. अतः माइग्रेन में शरीर को भरपूर आराम देना चाहिए.
  6. दवाई आदि के दुष्प्रभाव से
    कई बार कुछ दवाओं के अत्यधिक मात्रा में सेवन से उसके दुष्प्रभाव के वजह से सिर में भारीपन लगने लगती है. कई बार शराब जैसी चीज की अत्यधिक मात्रा से भी सिर में भारीपन होती है.
  7. अन्य कारण से
    हो हल्ला या शोर-गुल के माहौल में समय बिताने से भी सिर में भारीपन हो सकता है. कभी-कभी स्नान करने के बाद पंखा या कूलर के सामने बैठ जाने या पानी न पीने की वजह से भी सिर में भारीपन की शिकायत होती है. किसी चीज की एलर्जी या तेल, शैम्पू, जेल आदि के रिएक्शन से भी सिर में भारीपन हो सकता है. हार्मोन में बदलाव के वजह से से भी सिर में भारीपन हो सकते हैं. साइनस में इन्फेक्शन या ब्रेन ट्यूमर से भी सिर में भारीपन हो सकता है.

सिर में भारीपन के इलाज – Sir Mein Bharipan Ka Ilaj

सिर में भारीपन के कई कारण होते हैं. अतः इसके इलाज के लिए पहले यह जानना जरूरी होता है कि यह भारीपन किस वजह से है? अतः सिर में भारीपन की शिकायत में डॉक्टर से जांच कराकर इसका सही कारण जानकर उचित इलाज करानी चाहिए. सिर में भारीपन के शिकायत में अपने इलाज के साथ-साथ जीवनशैली में बदलाव करना चाहिए. विभिन्न शारीरिक गतिविधियों में शामिल होना चाहिए. नियमित रूप से रोज सुबह सैर करना चाहिए. सैर के लिए पार्क जाया जा सकता है. इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खे से भी सिर में भारीपन के शिकायत में आराम मिलता है.

सिर में भारीपन के इलाज के लिए घरेलू नुस्खे – Sir Mein Bharipan Ke Liye Gharelu Nushke

  1. धनिया और चीनी
    धनिया और चीनी के बराबर मात्रा को पीसकर मिलाकर लेना चाहिए. अब इसका घोल बनाकर पी लेना चाहिए. इससे सिर में दर्द या भारीपन ठीक होता है.
  2. अदरक
    अदरक को छोटे-छोटे टुकड़े में पीसकर पेस्ट बना लेना चाहिए. अब ठंडा होने पर इस पेस्ट को माथे व कनपट्टी में 10 मिनट के लिए लगा लेना चाहिए. 10 मिनट के बाद इसे धो लेना चाहिए. इससे सिर में भारीपन दूर होता है.
  3. चंदन
    लकड़ी वाले चंदन घोटकर इसे माथे पर लगाना चाहिए. आधे घंटे तक इसे माथे में लगा रहने ही देना चाहिए. इससे सिर में भारीपन दूर होता है.
  4. यूकेलिप्टस का तेल
    यूकेलिप्टस का तेल को गुनगुना कर लेना चाहिए. फिर इस गुनगुना तेल से मसाज करना चाहिए. इससे सिर में भारीपन दूर होता है.
  5. दूध और बादाम
    यदि सिर में भारीपन की शिकायत रोज या बराबर होता हो तो इसके लिए रोज रात में दो बादाम दूध में डाल देना चाहिए. सुबह उठने पर इसका सेवन करना चाहिए. कुछ ही दिनों में इस समस्या से छुटकारा मिल जाता है.
  6. योगा
    यदि बराबर सिर में भारीपन का शिकायत रहता है तो इससे छुटकारा पाने के लिए कुछ योग का सहारा भी लिया जा सकता है. इसके लिए उचित योग व योग करने की विधि की जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए.

Leave a Reply